आम जनता पर पुलिस का अत्याचार, बेरहमी से पीटा।


 


लखनऊ:- लखनऊ के थाना मलिहाबाद के परसादी खेड़ा गाँव में पुलिस की बर्बरता का मामला सामने आया है, जहाँ पुलिस एक शख्स को बेरहमी से पीट पीट कर अधमरा कर दिया है। 


दरअसल दो एसआई  मुशीर आलम और वहीद अहमद ने दो गाड़ियों में आठ दस पुलिस कर्मियों के साथ  3 -4 सितम्बर की मध्य रात को, एक दुकान में नौकरी करके अपने परिवार चलाने वाले सुरेन्द्र को उसके घर से उठा कर के थाना मलीहाबाद ले गए। इस दौरान इन लोगों ने पीड़ित की पत्नी और बच्चों को भी बुरी तरह से पीटा। थाने में ले जाकर मुशीर आलम (एसआई ) और वहीद अहमद (एसआई ) ने पीड़ित को खम्बे से बांधकर बर्बरता पूर्वक पूरी रात पीटते रहे, 4 सितंबर की शाम 5 बजे पीड़ित को किसी को बताने पर जान से मार देने की धमकी देते हुये उसे छोड़ दिया, 5 सितंबर को पीड़ित लखनऊ भाग कर आया और शाम को वरिष्ठ पुलिस अधिकारीयों के सामने अपनी व्यथा रखते हुए न्याय की गुहार की, अधिकारीयों के अनुशासन के बाद भी दोषी पुलिस वालों के खिलाफ अभी तक कोई कार्यवाही नहीं हुई है। पीड़ित जान के डर से अपने घर बहार दर दर भटक रहा है वहीँ दोषी पुलिस वाले लगातर धमकी दे रहे हैंl 


इस दौरान पीड़ित ने बताया कि क्षेत्रीय पुलिस ने मुझे बेरहमी से पीटा है, दोनों एसआई के खिलाफ़ पुलिस के आला अधिकारी कोई कार्रवाई नहीं कर रहें हैl पीड़ित ने चेतावनी देते हुए कहा कि अगर इन एसआई पर कोई कार्रवाई नहीं होती है तो आत्महत्या कर लूंगा।


फिलहाल राज्य मानवाधिकार आयोग ने केस दर्ज कर लिया है। ऐसे में योगी पुलिस के मुखिया  पर बड़ा सवाल बना हुआ है अगर पुलिस ही आम जनता पर इस तरह का अत्याचार करेगी तो आम जनता का पुलिस पर से विश्वास उठ जाएगा।