सफाई कर्मचारी नदारद, स्कूल व गांव में फैली गंदगी


 


पीलीभीत:- पूरनपूर गांव खाता और अमरैयाकलां में सफाई कर्मियों के न पहुंचने से स्कूली बच्चे झाड़ू लगाने तथा पक्के मार्ग पर जलभराव होने से स्कूली बच्चे गन्दे पानी से होकर शिक्षा ग्रहण करने को मजबूर है।


मालूम हो कि पंचायत राज विभाग द्वारा प्रत्येक स्कूलों में सुबह को सफाई करने के लिए सफाई कर्मचारियों की तैनाती की गई है। जिससे सुबह आने बाले बच्चों को स्कूलों में गंदगी से कोई परेशानी न हो। जबकि शासनादेश के मुताबिक स्कूल खुलने से पूर्व सफाई करने के निर्देश है। मगर ग्राम पंचायत अधिकारियों की उदासीनता के चलते गांव में तैनात सफाई कर्मचारी स्कूलों व गांवों में नहीं पहुंच रहे है। गांव खाता निवासी रामभरोसे घर के सामने मुख्य मार्ग के तिराहे पर और अमरैयाकलां में ज्वालाप्रसाद कुशवाहा के घर के सामने पक्के मुख्य मार्ग पर पानी का निकास न होने से जलभराव हो गया है, जिससे स्कूली बच्चे और ग्रामीण गन्दे पानी से गुजरने को मजबूर है। गांव के मुख्य मार्ग पर पानी का निकास न होने से जलभराव को लेकर ग्राम पंचायत अधिकारी से कई बार शिकायत की। मगर पंचायत सचिव ने इस ओर अभी तक कोई ध्यान नहीं दिया है। जिस कारण नालियां चोक होने और जलभराव से बच्चों में संक्रामक रोग फैलने की आशंका बनी हुई है। जबकि सरकार बच्चों की सेहत और गांव के विकास के लिए लाखों रुपए खर्च कर रही है। मगर जमीनी हकीकत यहां पर कुछ और नजर आ रही है। दोनों गांवों के दर्जनों ग्रामीणों ने जिलाधिकारी को पत्र भेजकर सफाई कर्मचारियों से स्कूलों में सफाई कराने तथा मुख्य मार्ग पर जलभराव के निकासी व्यवस्था कराने की मांग की है।


रिपोर्टर:- हिमांशु प्रताप सिंह