पुलिस की त्वरित कार्यवाही से सलौनी को मिला न्याय,यामिनी को भेजा जेल


 


इटावा:- लिखे " बेटी पढ़ाये या बेटी बचाये शीषर्क में  कल ध्यानचंद स्टेडियम के महिला छात्रबास में रहने वाली बैडमिंटन की होनहार खिलाड़ी कक्षा 8 की छात्रा 14 वर्षीय सलोनी शर्मा द्वारा कोच की पत्नी द्वारा उत्पीड़न से तंग आकर अपने कमरे के पंखे से लटककर जान देने के मामले में आज इटावा एसएसपी ने त्वरित कार्यवाही करते हुये यामिनी नामक महिला को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया, सलौनी शर्मा ने लिखे अपने सोसाइड लेटर में यामिनी नाम की महिला के उत्पीड़न करने का जिक्र किया था,हालाँकि सलौनी शर्मा के पिता कार्यवाही नही करना चाहते थे लेकिन पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद पुलिस ने जाँच के उपरांत महिला के खिलाफ सैफई थाने में मामला दर्ज कर उसको जेल भेज दिया,इस बात की जानकारी इटावा एसएसपी संतोष कुमार मिश्रा ने आज सुबह प्रेस वार्ता में दी।


दिनांक 22/23.07.19 की रात्रि को मेजर ध्यान चंद स्पोर्ट्स कॉलेज सैफई इटावा में आठवीं क्लास की छात्रा द्वारा फांसी लगाकर आत्महत्या करने की सूचना प्राप्त हुई थी जिसपर पुलिस द्वारा बच्ची का पोस्टमार्टम कराया तथा घटनास्थल के निरीक्षण पर मौके से एक नोट मिला जिसमें यामी नामक महिला का जिक्र किया गया था।


उपरोक्त घटना के संबंध में पुलिस द्वारा स्वयं संज्ञान लेते हुए वादी बन कर थाना सैफई पर मु0अ0सं0 127/19 धारा 306 भादवि अभियोग बनाम यामिनी नामक महिला पंजीकृत किया गया था। जिस के संबंध में कार्यवाही करते हुए पुलिस द्वारा अभियुक्ता को गिरफ्तार कर जेल भेजा जा रहा है।


रिपोर्टर:- सुबोध पाठक