कतर्नियाघाट संरक्षित वन क्षेत्र, बिछिया में बाघ के हमले में बालक गंभीर रूप से घायल


 


बहराइच:- रेलवे स्टेशन के पश्चिमी आऊटर सिग्नल के गेट संख्या 97 पर आज शाम चार बजे बाघ के हमले में बालक गंभीर रूप से घायल हो गया है। जिसकी हालत गंभीर देखते हुए ग्रामीणों ने उसे प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र सुजौली ले गए जिसे जिला अस्पताल के लिए रेफर कर दिया गया।


बहराइच कतर्नियाघाट रेंज अंतर्गत बिछिया रेलवे स्टेशन के पश्चिमी आऊटर सिग्नल के गेट संख्या 97 रेलवे क्रॉसिंग पर पिछले एक सप्ताह से गेटमैनों व राहगीरों के द्वारा तीन बाघों को देखा जा रहा था। लेकिन रेलवे क्रासिंग पर लगातार दस्तक दे रहे बाघ ने आज शाम 4 बजे पास के ग्रासलैंड में अपने मवेशियों को घास चरा घर लौट एक बालक 12 वर्षीय बालक अजय पुत्र लल्लू पर हमला कर उसे गंभीर रूप से जख्मी कर दिया। ग्रामीणों ने बताया कि बाघ ने युवक पर हमला कर उसे जख्मी हालत में छोड़कर उसके पास तकरीबन 15 मिनट तक डटा रहा। रेलवे क्रासिंग पर तैनात गेटमैन व भवानीपुर के गाँव वासियों ने हाका लगाया जिसके बाद बाघ उसे छोड़ कर जंगल में भागा। ग्रामीणों ने तत्काल कतर्नियाघाट से गुजर रहे राहगीर वाहन सवार से बालक की जान बचाने के लिए मदद की गुहार की जिसपर मारुती मालिक जावेद अहंमद निवासी हैदराबाद गोला ने उसे लिफ्ट देकर प्राथमिक उपचार के लिए प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र सुजौली ले गए जहाँ से उसकी हालत गंभीर देखते हुए जिला अस्पताल के लिए रेफर कर दिया गया।


बालक के गर्दन और कंधे पर भारी जख्म है। सूचना के बाद पहुचे वन क्षेत्राधिकारी पियूष मोहन श्रीवास्तव, वन दरोगा मयंक पांडे ने घटनास्थल का मुआयना कर क्रासिंग के निकट बाघिन के साथ दो बाच्चों के लगातार मूव्मेंट होने की बात कही है।


एम्बुलेंस पर अव्यवस्था होने के कारण प्राइवेट वाहन से ले जाया गया बहराइच। ग्रामीणों को बताया गया कि ऑक्सीजन की व्यवस्था नही है।


आक्रोशित ग्रामीणों ने एम्बुलेंस से बच्चे को उतार कर उसे प्राइवेट वाहन से उपचार के लिए ले गए।


रिपोर्टर:- फ़राज़ अंसारी