डिलीवरी के पहले ही जच्चा बच्चा की मौत, परिजनों में कोहराम


 


इटावा:-  डिलीवरी के पहले ही जच्चा बच्चा की मौत हो गई। मौत से परिजनों में कोहराम मचा हुआ है। घटना सैफई मेडिकल कालेज में हुई है। इसके पहले महिला का एक प्राइवेट अस्पताल में इलाज किया गया था। महिला भरथना क्षेत्र की रहने वाली थी। परिजनों ने डाक्टरों पर गलत इलाज का आरोप लगाया है। बहारपुर गांव के रहने वाले सौरभ की पत्नी नीतू सक्सेना गर्भवती थी। उसको प्रसव के लिए बुधवार को सीएचसी भरथना ले जाया गया। सीएचसी में प्रसव के लिए कराई गई नीतू की इलाज के बाद तबियत बिगड़ गई तो डाक्टरों ने रिफर कर दिया। परिजन उसको लेकर बसरेहर के एक प्राइवेट अस्पताल पहुंचे। डाक्टरों ने उसका इलाज किया लेकिन हालत और भी बिगड़ती चली गई। इससे घबराए डाक्टर ने उसको सैफई मेडिकल कालेज के लिए रिफर कर दिया। रात को परिजनों ने सैफई में महिला को भर्ती कराया। डाक्टरों ने जांच की तो महिला की हालत नाजुक बताई। डाक्टरों के इलाज से महिला की डिलीवरी होती लेकिन इसके पहले ही उसकी मौत हो गई। महिला की मौत से गर्भ में पल रहे बच्चे की भी मौत हो गई। जच्चा बच्चा की मौत से परिजनों में कोहराम मच गया। महिला की शादी 2015 में हुई थी और उसके तीन साल की बेटी गौरी है। मां की मौत की जानकारी से बच्ची का रो रोकर बुरा हाल हो रहा है। परिजनों ने बताया कि शुरूआत से ही उसका गलत इलाज किया गया, इसी से महिला की मौत हो गई।


रिपोर्टर:- सुबोध पाठक