प्रदेश भर में पत्रकारो पर हमलो के बिरोध में डीएम को दिया राज्यपाल को संबोधित ज्ञापन।

 


सात सूत्रीय ज्ञापन के साथ जिले के पत्रकार हुए एकजुट।


शाहजहाँपुर:- उत्तर प्रदेश भर में पत्रकारो पर हो रहे हमले, और उत्पीड़ के बिरोध में, जिले के समस्त पत्रकारो ने एकजुट हो कर, राज्यपाल को संवोदित सात सूत्रीय ज्ञापन जिलाधिकारी को सौपा ।


उत्तर प्रदेश के शाहजहाँपुर जिले के समस्त पत्रकारो ने प्रदेश भर के उत्पीड़ित पत्रकारो के साथ खड़ा हो कर राज्यपाल को ज्ञापन सौपने के साथ अपना बिरोध दर्ज कराते हुए पत्रकार एकता जिन्दाबाद व पत्रकारो पर उत्पीड़न अब नही सहेगे नही सहेगे के नारे लगाए!


शाहजहाँपुर प्रेस क्लव सोसायटी उत्तर प्रदेश के नेतृत्व में जनपद के समस्त पत्रकार कलेक्ट्रेड में जमा हुए और उन्होने जलालाबाद स्थित पत्रकार अनुराग मिश्रा(राजू मिश्रा) पर सपा नेता विजेन्द्र सिंह द्वारा अपने पुत्र की हत्या के लगाए गये झूठे आरोप का बिरोध ही नही बल्कि जम कर निंदा की तथा साथ ही प्रदेश भर में पत्रकारो पर हमलो की निंदा करते हुए सात सूत्री ज्ञापन के माध्यम से राज्यपाल से मांग की!


प्रेस क्लव सोसायटी यूपी के अध्यध उदित शर्मा के नेतृत्व में आज जिलाधिकारी द्वारा राज्यपाल महोदय को प्रेषित मांग पत्र में पत्रकारो अपनी मांगे रखते हुए लिखा कि गाजियाबाद के नोएडा स्थित ६ जून को सेटेलाईट चैनल के तीन पत्रकार मैनेजिंग डायरेक्टर इशिका सिंह, संपादक अनुज शुक्ला व एंकर अंशुल कौशिक को बिना किसी जांच के फर्जी तहरीर पर पुलिस द्वारा गिरफ्तार करना पत्रकारिता पर बड़ा कुठाराघात है जो कदापि बर्दाश्त नही किया जाएगा, तत्काल प्रभाव से तीनो को रिहा किया जाय!


प्रदेश भर में पत्रकारो पर लगातार हो रहे हमलो का संज्ञान लेते हुए, पत्रकारो की सुरक्षा और उनके हितार्थ पूर्व में बनाए गये कानून को प्रभावी ढ़ंग लागू किया जाय तथा उत्तर प्रदेश पुलिस को सख्ती से निर्देशित किया जाय कि पत्रकारो के सम्बन्ध में किसी भी शिकायत पर मुकदमा लिखने से पूर्व पूरी तरह संक्षम अधिकारी द्वारा जांच कराई जाय और दोषी पाय जाने पर ही कार्यवाही का प्रावीधान लागू किया जाय!


उत्तर प्रदेश के समस्त जिला सूचना विभाग में व्याप्त भ्रष्टाचार एंव अधिकारियों व दलालो की सांठगांठ को दूर कर पारदर्शी व्यवस्था तत्काल प्रभाव से लागू की जाय तथा पत्रकारो को सरकारी मूलभूत सुविधाओं के साथ सभी माहत्वपूर्ण योजना के आवास प्रदान किए जाय!


समस्त उत्तर प्रदेश में पत्रकारो पर लगातार दर्ज हो रहे फर्जी मुकदमों का संज्ञान लेते हुए तत्काल प्रभावी ढ़ंग से वापस लिये जाए तथा साथ ही पत्रकार हित में शासन/माननीय न्यायालय द्वारा बनाये गये कानूनो को तत्काल प्रभावी ढ़ंग से लागू कराया जाय!


जनपद की जलालाबाद तहसील स्थित पत्रकार अनुराग मिश्रा(राजू मिश्रा) पर विगत सप्ताह स्थानीय समाजवादी पार्टी नेता जिला पंचायत सदस्य द्वारा अपने पुत्र की सन्दिग्ध मौत का लगाया गया झूठा आरोप और पुलिस द्वारा तत्काल कार्यवाही में गंभीर धाराओं में दर्ज मुकदमा तत्काल प्रभाव से वापस लिया जाय!


इस दौरान जिले के समस्त पत्रकार, वेदप्रकाश मिश्रा, राजीब शुक्ला, आन्नद शर्मा, विशेष कुमार, प्रशांत शर्मा, अनुज शर्मा, शिवंम श्रीवास्तव, हरिहरनाथ मिश्रा, तारा चन्द, गुलमोहम्मद,जगदीश सिंह, रमेश कुमार,अरविन्द त्रिपाठी, धन्नजय वाजपेयी,रोहित पाण्डेय ब्यूरो एचएनएन, कौशलेन्द्र मिश्रा ब्यूरो एवीपी, पवन गुप्ता, मो० सलीम, चंदन सिंह, अजय यादव, अभिनय गुप्ता, अभिषेक सक्सेना, आफाक खाँ, अशफाक़ खाँ, रिजवान, पंकज सक्सेना,अनुराग मिश्रा संजय कौशल, सुशील,शुक्ला, राम मिश्रा, रमाशंकर दीक्षित,पवन मिश्रा,राघवेन्द्र मिश्रा, मेराजउद्दीन खान रिपोर्ट, अरुण वाथम, देवेश शुक्ला, देवेश भारद्वाज, आकाश गुप्ता, हरदेव शर्मा, अनुज त्रिपाठी, अरविन्द कनौजिया,दीलीप शुक्ला व इमरान सागर आदि दर्जनो पत्रकार मौजूद रहे।


रिपोर्टर:- उदित शर्मा